दिल्ली दरबार देश दुनिया बात-विचार विमर्श/अभिव्यक्ति

भारत में सरकार का मतलब ब्रिटिश उपनिवेश का वो ढांचा जो जनता को लूटने के लिए गढा गया

संजय तिवारी एक बार भाजपा के एक वरिष्ठ नेता कह रहे थे, मोदी को विरोध से कोई फर्क नहीं पड़ता। मोदी कहते हैं विरोधी अपना काम कर रहे हैं और मैं अपना। अगर विरोधियों की बात पर ध्यान दूंगा तो कभी काम नहीं कर पाऊंगा। जो नेता ये बात बता रहे थे किसी समय मोदी […]

दिल्ली दरबार देश दुनिया बात-विचार राष्ट्रवाद विमर्श/अभिव्यक्ति

मान्यताओं के मकड़जाल में

संजय तिवारी “कुरान की छब्बीस आयतें आतंकवाद का कारण हैं।” ये कहना है वसीम रिजवी का। इसे लेकर उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका दाखिल किया है। लेकिन जनहित याचिका दाखिल होने के बाद जिस तरह से मुसलमान बौखलायें हैं उसे देखकर लगता है कि कहीं कोई सच्चा मुसलमान रिजवी की हत्या न कर […]