खोज-खबर देश दुनिया

तालिबान के वैचारिकता का आधार भारत के एक मदरसे से

तालिबान के वैचारिक आधार का भारत कनेक्शन संजय तिवारी तालिबान ने युद्ध समाप्ति की घोषणा कर दिया है। बिना किसी खास विरोध के तालिबान के लड़ाके काबुल में प्रविष्ट हो गये और राष्ट्रपति सहित पूरा अफगान प्रशासन काबुल से भाग खड़ा हुआ। करीब 20 साल बाद अब काबुल पर तालिबान का दोबारा कब्जा हो गया […]

खोज-खबर विविध

क्या आप ब्रह्मन गाय के बारे में जानते हैं ?

संजय तिवारी नेहरु जी के समाजवाद ने गांव को दो अनमोल उपहार दिये। एक, यूकेलिप्टस का पेड़ और दूसरा जर्सी नस्ल की गाय। गांव के विकास के लिए नेहरु जी के समाजवादी झोले से जो दो अनमोल उपहार निकले थे उन दोनों की कहानी ये हुई कि जर्सी नस्ल की गाय आज कोई पालना नहीं […]

खोज-खबर नागपुर-महाराष्ट्र विविध

किसी समय होती थी मुंबई की फिल्म इंडस्ट्री

संजय तिवारी किसी समय होती थी मुंबई की फिल्म इंडस्ट्री। अब तो वह बॉलीवुड है। हालीवुड की फोटोकॉपी। जो हालीवुड में देखते हैं उसी की नकल करके परोस देते हैं। आप कभी इन फिल्मवालों का जीवन जाकर देखिए करीब। इनके जीवन में हिन्दी के दो शब्द तक नहीं है। कुछ एक्टर तो रोमन में डॉयलॉग […]

उत्तर प्रदेश-उत्तराखंड खोज-खबर देश दुनिया व्यक्तिनामा

निब्बू मुशहर : सतत विकास के सच्चे संदेशवाहक हैं

संजय​ तिवारी ये निब्बू मुशहर है। पूर्वी उत्तर प्रदेश की एक घुमंतू जाति। अगर हमारे समाज में आसपास कोई माटी का लाल है तो वो यही लोग हैं। माटी पानी और पेड़ की जितनी समझ इन्हें होती है, शायद किसी कृषि स्नातक को भी नहीं होती होगी। लेकिन इनकी अपनी जीवन शैली है। जैसे पानी […]