दिल्ली दरबार देश दुनिया

वैक्सीन के साथ मास्क और सावधानी है जरूरी

नई दिल्ली। कोरोना की दूसरी लहर देश में आ चुकी है। इसमें संक्रमण की गति एक बार फिर तेज देखी जा रही है। विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना वैक्सीन और कोरोना उपयुक्त व्यवहार का पालन करके ही आप कोरोना को हरा सकते हैं। विशेषज्ञ कहते हैं कि हम निर्धारित दूरी का पालन करें। जब भी एक दूसरे से मिलें, उचित दूरी का पालन करें। बहुत अधिक जरूरी नहीं हो, तो सार्वजनिक जगहों पर नहीं जाएं। जाना जरूरी हुआ तो मास्क पहनें हों। यह बात अपने दिमाग में बिठा लें कि आपको मास्क सबसे अधिक बचाव करेगा। हाल ही में एक सर्वे जारी हुआ है, जो चिंताजनक है। उसमें कहा गया है कि केवल 44 प्रतिशत लोग मास्क का उपयोग कर रहे हैं। जब भी घर से आपके कदम बाहर निकलें, मास्क आपके चेहरे पर अच्छी तरह से हो। नाक और मुंह पूरी तरह से ढका हुआ होना चाहिए। समय-समय पर साबुन से हाथ धोते रहें।

पहली अप्रैल से कोरेाना टीकाकरण अभियान देश के एक बडे आयुवर्ग के लिए उपलब्ध है। जिनका जन्म 31 दिसंबर, 1976 तक हुआ है यानी जो 45 वर्ष के हो चुके हैं, वे देश में कहीं भी कोरोना टीका लगवा सकते हैं। आप चाहें तो सरकारी अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों पर जाएं। वहां आपके लिए कोरोना टीका बिलकुल मुफ्त है। यदि आप निजी अस्पतालों में जाना चाहते हैं, तो वहां आपको एक डोज के लिए 250 रुपये देने होंगे।

भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने यह सुनिश्चित किया है कि आप जहां भी टीका लगाएंगे, वहां आपको एक सर्टिफिकेट मिलेगा। आप इसे जरूर हासिल करें। यह आपके लिए बेहद जरूरी है। इसी सर्टिफिकेट में आपको यह जानकारी मिलेगी कि आपको कौन सा वैक्सीन मिला है। ध्यान रखिए, जब तक आप आधा घंटा टीका लगने के बाद इंतजार करेंगे। उसी समयावधि में यह प्रिंट आउट आपको मिल जाना चाहिए। इसके लिए आपको कोई अतिरिक्त धन नहीं देना है। कुछ ऐसी खबरें आईं है कि कुछेक स्थानों पर इस सर्टिफिकेट के लिए अलग से पैसे लिए गए हैं। आप ऐसा कतई नहीं करें। यदि कोई आपके साथ ऐसा करता है, तो इसकी सूचना तुरंत दें। सरकार ने इसके लिए 1075 नंबर दिया हुआ है, जिस पर आप अपनी शिकायत कर सकते हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण लगातार अपने संबोधन में अपील करते हैं कि आप कोरोना उपयुक्त व्यवहार का पालन करें। जब भी टीकाकरण के लिए जाएं तो अपने साथ निर्धारित कागज ले जाएं। खासकर वह कागज जरूर होना चाहिए, जिसे आपने कोविन पोर्टल पर पंजीकरण के समय प्रस्तुत किया है। इससे आपको ही सहूलियत होगी। इसके साथ ही आप जब निजी अस्पताल और स्वास्थ्य केंद्रों पर टीकाकरण करवाते हैं, तो वह 250 रुपये में ही आपको टीका लगाएगा और सर्टिफिकेट भी देगा। इस 250 रुपये में से 100 रुपये सुविधा शुल्क के नाम पर है, जिसमें सर्टिफिकेट का प्रिंट आउट भी शामिल है।

इसके साथ ही एक बात और गौर करने लायक है। कई जगहों से सूचना है कि एक बार कोविन पोर्टल और आरोग्य सेतु पर पंजीकरण हो जाने के बाद दूसरी बार भी पंजीकरण के लिए कहा जा रहा है। ऐसा कतई नहीं करें। एक बार का पंजीकरण ही पर्याप्त है। यदि कोई इसके लिए दवाब बनाता है, तो तुरंत हेल्पलाइन 1075 पर काॅल कर सकते हैं।

केंद्रीय केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डाॅ हषर्वधन ने समस्त देशवासियों से एक बार फिर आग्रह किया है कि अभी जो मामले बढ़ रहे हैं उसे लेकर मैं लोगों से अपील करता हूं कि आप कोरोना उपयुक्त व्यवहार को गंभीरता से लें और वैक्सीन लगवाने को जन आंदोलन के रूप में विकसित करने में मदद करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *